भारत के प्रमुख जलप्रपात (Bharat ke pramukh jalprapaat)

भारत के प्रमुख जलप्रपात Bharat ke pramukh jalprapaat

भारत के प्रमुख झरने (Bharat ke Pramukh Waterfall ) –

भारत में जलप्रपातओं की संख्या कम है, भारत में अधिकतर जलप्रपात दक्षिण भारत और उत्तर पूर्वी भारत में पाए जाते हैं भारत  के अन्य राज्यों में पाए जाने वाले जलप्रपात की ऊंचाई बहुत कम है!  Bharat ke pramukh jalprapaat इस प्रकार है –

(1) जोंग जलप्रपात (jong jalprapat) –

जोग जलप्रपात कर्नाटक के शिमोगा जिले के शरावती नदी पर स्थित यह भारत का सबसे ऊंचा गैर पंक्ति बंद जलप्रपात है जिसकी ऊंचाई 253 मीटर है. इसे जोगाड़ा, गरसोप्पा या महात्मा गांधी जलपपात भी कहा जाता है! जोग जलप्रपात राजा, राकेट, रोरर और ब्लाचे आदि जलप्रपातों से मिलकर बना है! 

(2) शिवसमुद्र जलप्रपात(Shivsamudram Jalprapat) –

यह कावेरी नदी पर स्थित है पहले से कावेरी प्रपात के नाम से जाना जाता था यह भारत का दूसरा सबसे ऊंचा जलप्रपात है यह कर्नाटक से 120 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है! शिवसमुद्रम जलप्रपात में एशिया का पहला जल विद्युत गृह स्थापित किया गया! 

(3) दूध सागर(Dhudhsagar Jalprapat) –

यह गोवा राज्य में मांडवी नदी के ऊपर खंड में स्थित है दूधसागर एक पंक्तिबद्ध जलप्रपात है. यह राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय पर्यटन के लिए प्रसिद्ध है! 

(4) गोकक जलप्रपात(Gokak Jalprapat) –

यह जलप्रपात कर्नाटक के बेलगाम जिले में घटप्रभा नदी पर स्थित है यह जलप्रपात गोकक शहर से लगभग 6 किलोमीटर दूर स्थित है यह नियाग्रा प्रपात के सदृश्य है यह भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पर्यटन के लिए प्रसिद्ध है! 

(5) किलियूर जलप्रपात –

यह जलप्रपात तमिलनाडु के सर्वरायण पहाड़ियों में स्थित है, इसकी ऊंचाई लगभग 100 मीटर है. यह तमिलनाडु का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है! 

(6) थलईयार जलप्रपात –

इस जलप्रपात को रैट-टेल जलप्रपात भी कहते हैं तथा यह तमिलनाडु के कोडाईकनाल के निकट मंझलार नदी पर स्थित है. इसकी ऊंचाई 200 मीटर है.यह तमिलनाडु का सबसे ऊंचा जलप्रपात है! 

(7) दुदुमा जलप्रपात –

यहां उड़ीसा राज्य में कोरापुट जिले से 92 किलोमीटर दूर मचकुंड नदी पर स्थित है. एक जलप्रपात पर एक बड़े जल बिजली संयंत्र का निर्माण किया गया है. मचकुंड एक तीर्थ  स्थल है! 

(8) धुआँधार जलप्रपात –

यह मध्यप्रदेश के भेडघाट (जबलपुर) में नर्मदा नदी पर स्थित है, मध्य प्रदेश का प्रमुख पर्यटन स्थल है. यहां पानी ऊंचाई से गिरने के कारण धुंध का सृजन होता है, जिसके कारण इस जलप्रपात को धुआंधार जलप्रपात करते हैं! 

(9) चूलिया जलप्रपात(Chuliya Jalprapat) –

चूलिया जलप्रपात राजस्थान राज्य के कोटा में भैसरोडगढ के निकट  चंबल नदी पर स्थित है, जिसकी ऊंचाई 18 मी. है! 

(10) कुचिकल जलप्रपात –

कुचिकल जलप्रपात कर्नाटक में उड़पी और शिमोगा जिले की सीमा पर स्थित है, जिसकी ऊंचाई 450 मीटर है. यह वाराही नदी पर स्थित है! 

(11) चित्रकूट जलप्रपात(Chitrakut Jalprapat) –

यहां छत्तीसगढ़ राज्य में इंद्रावती नदी पर स्थित है, इसे भारत का नियाग्रा जलप्रपात भी कहते है! 

(12) हुंडरु जलप्रपात(Hundru Jalprapat) –

हुंडरु जलप्रपात रांची के निकट स्वर्णरेखा नदी पर स्थित है की ऊंचाई 74 मीटर है!

(13) येन्ना जलप्रपात(Yenna Jalprapat) –

यह मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी पर स्थित है जिसकी ऊंचाई 183 मीटर है! 

(14) बरेही जलप्रपात –

बरेही जलप्रपात मयूरभंज उड़ीसा में बुधावगंगा स्थित है यह सिमलीपाल राष्ट्रीय उद्यान में स्थित है! 

 

इन्हें भी पढ़ें – 
 

Leave a Comment

error: Content is protected !!