कौटिल्य का राज्य का सप्तांग सिद्वांत का वर्णन कीजिए

कौटिल्य का राज्य का सप्तांग सिद्वांत (kautilya ka rajya ka saptang siddhant)

कौटिल्य का राज्य का सप्तांग सिद्वांत (kautilya ka rajya ka saptang siddhant) – प्राचीन भारतीय विचारक कौटिल्य का नाम ‘अर्थशास्त्र’ के लेखक के रूप में प्रसिद्ध है। कौटिल्य ने ‘अर्थशास्त्र’ …

Read more

कौटिल्य और मनु के राजनीतिक विचारों में तुलना कीजिए (kautilya aur manu ke rajnitik vicharon me tulna kijiye)

कौटिल्य और मनु के राजनीतिक विचारों में तुलना कीजिए (kautilya aur manu ke rajnitik vicharon me tulna kijiye)

कौटिल्य और मनु दोनों ही भारतीय राजनीतिक विचारक हैं! दोनों के विचार में कुछ समानता और असमानताएं पायीं जाती हैं! जो इस प्रकार हैं – कौटिल्य और मनु के राजनीतिक …

Read more

कौटिल्य और मैकियावेली में तुलना (Comparison between Kautilya and Machiavelli in hindi)

कौटिल्य और मैकियावेली में तुलना (Comparison between Kautilya and Machiavelli in hindi)

कौटिल्य और मैकियावेली में समानता (Similarities between Kautilya and Machiavelli) – कौटिल्य और मैकियावेली दोनों अपने समय के महान विचारक है। दोनों के विचारों में पर्याप्त अंतर पाया जाता हैं, …

Read more

अपनी प्रजा की सुख-शांति में ही राजा की सुख-शांति का वास है; उनके कल्याण में ही उसका अपना कल्याण है। (कौटिल्य)

अपनी प्रजा की सुख-शांति में ही राजा की सुख-शांति का वास है; उनके कल्याण में ही उसका अपना कल्याण है

“अपनी प्रजा की सुख-शांति में ही राजा की सुख-शांति का वास है; उनके कल्याण में ही उसका अपना कल्याण है” – कौटिल्य उत्तरः – राज्य के सात अंगों में कौटिल्य ने …

Read more

error: Content is protected !!