नदी(RIver),नदियों के प्रकार

नदी (River In Hindi) –

एक निश्चित मार्ग पर तथा निश्चित दिशा में स्थल पर बहती हुई जल धारा को नदी(Rivers) कहा जाता है!

नदी भूतल पर प्रवाहित एक जलधारा है इसका स्त्रोत प्रायः कोई झील, हिमनद, झरना या बारिश का पानी होता है तथा किसी सागर अथवा झील में गिरती है ! नदी शब्द संस्कृत के नद्यः से बना है !

River

नदियों के प्रकार (Types Of Rivers) –

नदी दो प्रकार की होती है – सदानीरा या बरसाती !

सदानीरा नदियों का स्त्रोत झील ,झरना अथवा हिमनद होता है और वर्षभर जलपूर्ण रहती है, बरसाती नदियां बरसात के पानी पर निर्भर रहती है ! गंगा, यमुना कावेरी, ब्रह्मपुत्र, अमेजन, नील, आदि सदानीरा नदियां हैं!

अनेक छोटी नदियां अपने-अपने अपवाह क्षेत्रों के अतिरिक्त जल को मुख्य अथवा बड़ी नदियों में ले जाती हैं! इस प्रकार एक बड़ी नदी तथा उनसे मिलने वाली सभी छोटी नदियां एक नदी तंत्र का निर्माण करती हैं!

नदियां सामाजिक, आर्थिक वैज्ञानिक तथा अन्य कई रूपों में सहायक मानी जाती हैं! नदियां हमें जल प्रदान करने के साथ-साथ शुद्ध वातावरण भी देती है! इसके अलावा नदियां से खेती के लिए सिंचाई का पानी,पीने के लिए साफ पानी, जीवन निर्वाह के लिए मछली पालन, रोजगार तथा अन्य कई सारे रोजगार प्राप्त होते हैं ! नदियों पर बांध बनाकर जल विद्युत उत्पन्न की जाती है

इन्हें भी पढ़ें –

झील ,झीलों की उत्पत्ति एवं वर्गीकरण , झीलों के प्रकार, 

Leave a Comment

error: Content is protected !!