Indias t90s bhisham tank भीष्म टैंक

Indias t90s bhisham tank

Indias t90s bhisham tank –

Indias t90s bhisham tank एक जंगी टैंक है जिसे रूस ने बनाया है. यह तीसरी पीढ़ी के टैंक की श्रेणी में आता है.यहाँ T का मतलब है टैंक और इसमें 90 इसलिए लगाया गया, क्योंकि यह 1990 के दशक में बना था. वर्ष 1992 में यह पहली बार दुनिया के सामने आया
 
वर्ष 2001 में भारत ने प्रथम बार रूस से T-90S टैंक खरीदने का समझौता हुआ था. भारत ने रूस को 310 T-90S टैंक का खरीदने का ऑर्डर दिया. इनमें से 124 रूस से बनकर आए जबकि बाकी का निर्माण  चेन्नई (भारत) में किया गया. चेन्नई में जिन T-90S टैंकों का निर्माण किया गया उन्हें ही ‘भीष्म’ नाम दिया गया.
 
भारत ने T 90S को रुस से खरीदा है,इसे रूस के निझ्नी तागिल में उरालवैगनजावोद फैक्ट्री में बनाया जाता, इसे चेन्नई असेंबल में किया है और इसका नाम भीष्म टैंक रखा गया है!
 
 यह अर्जुन टैंक के बाद काफी घातक टैंक हैं, यह अपने दम पर जमीनी युद्ध की दिशा और दशा दोनों बदलने में सक्षम है! इसे और अपडेट किया जा रहा है, उसके बाद तो यह दुश्मनों का काल बन जाएगा! भीष्म और अर्जुन टैंक भारत को आसानी से बढत दिलाने में सक्षम है, यह अनेक खुबियो से लैस है! 
 

भीष्म टैंक की विशेषताएं (Quality and Power of indias t90s Bhisham Tank ) –

(1) यह 100 मीटर से 4 किलोमीटर तक के एरिया को टारगेट कर सकता है इसमें एंटी टैंक मिसाइल भी लगी होती है! यह मिसाइल 11.7 सेकंड में 4 किलोमीटर की दूरी तय कर लेती हैं.
 
(2) इसमें दुश्मन के लेजर हथियार से बचने के लिए ग्रेनेड लांचिंग सिस्टम लगा हुआ है जिसके कारण यह धुआं उत्पन्न करके दुश्मनों को भ्रमित कर देता है! 
 
(3Indias t90s bhisham tank जैविक और रासायनिक हथियारों से निपटने में सक्षम है! 
 
(4) इसमें टरबों चार्ज डीजल इंजन लगा हुआ है, जिसके कारण यह डीजल खत्म होने पर विद्युत उत्पन्न कर विद्युत से भी चल सकता है! 
 
(4) यह टैंक दिन,रात और बरसात आदि जैसे किसी भी प्रतिकूल मौसम में काम करने में सक्षम है, यह 5 मीटर गहरे पानी से भी निकल सकता है! 
 
(5) भीष्म टैंक (Indias t90s bhisham tank) का वजन 46.85 टन है.इसकी एक रेजीमेंट अंबाला में उपस्थित है! 
 
(6) इसमें 3 क्रू यानी एक गनर , एक कमांडर एवं एक ड्राइवर सवार होते हैं! 
 
(7) इस टैंक की ऊंचाई कम एवं कवच बहुत मजबूत होने के कारण इसको नुकसान पहुंचाना बहुत मुश्किल है! 
 
(8) इसमें 125mm स्मूथ गन लगी हुई है,इसके जरिए कई तरह के गोले और मिसाइलें दागी जा सकती हैं. 
 
(9) इसमें एंटी एयरक्राफ्ट गन भी लगी हुई है जो इसे हवाई हमले में मदद करती है! जिसकी सहायता से यह 2 किलोमीटर तक की रेंज में हैलीकॉप्टर को भी मार गिरा सकते हैं इससे लगी गन को मेन्युअली और रिमोट दोनों तरह से चलाया जा सकता है. यह गन एक मिनट में 12.7MM की 800 गोलियां चलाती है.
 
(10) भीष्म टैंक Indias t90s bhisham tank पर खास तरह की विस्फोटक प्लेट Kaktus K-6 एक्सप्लोसिव रिएक्टिव आर्मर लगाई गई है, जिसके कारण कोई भी बम या मिसाइल टैंक से टकराते हैं तो उस बम या मिसाइल की शक्ति निष्क्रीय हो जाती है, जिससे टैंक सुरक्षित रहता है! 
 
(11) इसमें ऑटोमेटिक फायर प्रोटक्शन सिस्टम भी लगा हुआ है! 
 
(12) इसमें कमांडर अपना लक्ष्य खोजने के लिए थर्मल विज़न डिवाइस का प्रयोग करता है,थर्मल इमैजर शरीर से निकली गर्मी के आधार पर काम करता है,
 लक्ष्य का निर्धारण होने के बाद टैंक अपने आप को लक्ष्य के अनुसार व्यवस्थित कर लेता है! 
 
(13) इसमें V9252B टर्बो चार्ज डीजल इंजन लगा हुआ है, जो 1130 हॉर्स पावर की शक्ति पैदा करता है! 
 
(14) इसमें सात आगे के गेयर तथा एक पीछे का गेयर लगा हुआ है! 
 
(15)Indias t90s bhisham tank गनर और कमांडर एक साथ अलग-अलग दुश्मनों पर निशाना साध सकते हैं! 
 
(16) इस टैंक से एक राउंड में सात मिसाइल छोड़ी जा सकती हैं. इसमें मिसाइल ऑटोमेटिक लोड होती है यानी एक बार निशाना दागने के बाद दोबारा रॉकेट या मिसाइल अपने आप ही लोड हो जाती है.
 
(17)Indias t90s bhisham tank पर चार हथियार AP, HEF, HIT व मिसाइल मौजूद हैं। पहले तीन हथियारों की मारक क्षमता डेढ़ से ढाई किलोमीटर तक होगी, जबकि मिसाइल की मारक क्षमता 5 किलोमीटर तक होगी! 
 
 
 
 

Leave a Comment

error: Content is protected !!