मानव विकास सूचकांक क्या है? Human Development Index के मापदंड

मानव विकास सूचकांक क्या है (Human Development Index in hindi) – 

मानव विकास सूचकांक (Human Development Index) एक सूचकांक है जिसका उपयोग देशों को “मानव विकास” के आधार पर आंकने के लिए किया जाता है! इस सूचकांक से इस बात का पता चलता कि कोई देश विकसित है या विकासशील अथवा अविकसित है! 

मानव विकास सूचकांक जीवन प्रत्याशा, शिक्षा और प्रति व्यक्ति आय संकेतों का एक समग्र आंकड़ा है, जो मानव विकास के चार स्तरों पर देशों को श्रेणीबद्ध करने में उपयोग किया जाता है! जिस देश की जीवन प्रत्याशा, शिक्षा स्तर और जीडीपी प्रति व्यक्ति अधिक होती है उसे उच्च श्रेणी प्राप्त होती है!  

इस प्रकार मानव विकास सूचकांक जीवन प्रत्याशा, शिक्षा और आय सूचकांकों का एक संयुक्त सांख्यिकी सूचकांक है जिसे मानव विकास के तीन आधार पर तैयार किया जाता है! इसे अर्थशास्त्री महबूब उल हक द्वारा तैयार किया गया था, जिसका 1990 में अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन द्वारा समर्थन किया गया और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम द्वारा प्रकाशित किया गया!

मानव विकास सूचकांक के मापदंड (manav vikas suchkank ke mapdand) –

अपने 2010 की मानव विकास विवरण में यूएनडीपी ने Human Development Index की गणना के लिए एक नई विधि का उपयोग शुरू किया है! जिसमें निम्नलिखित इन सूचनाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है! 

(1) जीवन प्रत्याशा सूचकांक (लंबा एवं स्वस्थ जीवन) 

(2) शिक्षा सूचकांक (शिक्षा का स्तर) 

(3) आय सूचकांक (जीवन स्तर) 

इन तीनों सूचकांक का औसत मानव सूचकांक होता है! इसका मान 0 से 1 के बीच होता है! 

(1) शिक्षा सूचकांक – 

इसके लिए सर्वप्रथम वयस्क सूचकांक को अस्तित्व में लाया जाता है, तत्पश्चात संयुक्त संपूर्ण नामांकन अनुपात ज्ञात किया जाता है, फिर दोनों की मदद से शिक्षा सूचकांक को अस्तित्व में लाया जाता है! 

(2) जीवन प्रत्याशा सूचकांक – 

यह सूचकांक जन्म के समय सापेक्ष जीवन प्रत्याशा की माप करता है! यदि इस सूचकांक में बढ़ोतरी होती है  तो वह ज्ञात होता है कि जीवन प्रत्याशा पहले से बड़ी हुई है! 

(3) सकल घरेलू उत्पाद सूचकांक – 

किसी देश की घरेलू सीमा के अंतर्गत 1 साल में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं! इसकी गणना प्रति व्यक्ति आय के आधार पर की जाती है! 

प्रश्न :- मानव विकास सूचकांक कौन जारी करता है

उत्तर :- मानव विकास सूचकांक रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम द्वारा प्रतिवर्ष प्रकाशित की जाती हैं! मानव विकास सूचकांक जीवन प्रत्याशा, शिक्षा और प्रति व्यक्ति आय संकेतों का एक समग्र आंकड़ा है, जो मानव विकास के चार स्तरों पर देशों को श्रेणीबद्ध करने में उपयोग किया जाता है! जिस देश की जीवन प्रत्याशा, शिक्षा स्तर और जीडीपी प्रति व्यक्ति अधिक होती है उसे उच्च श्रेणी प्राप्त होती है!  

इन्हें भी पढ़ें –

उदारीकरण क्या है? इसके प्रभाव लाभ और हानि

विशेष आर्थिक क्षेत्र क्या है? इसकी विशेषताएं

Leave a Comment

error: Content is protected !!