प्रेरक संचार(Persuasive Communication) क्या है? प्रबोधक संप्रेषण के निर्धारक

प्रबोधक संप्रेषण या प्रेरक संचार (Persuasive Communication in hindi) –

संचार/संप्रेषण शब्द में विचारों का आदान-प्रदान की साझेदारी तथा भाग लेने की भावना सम्मिलित है! जिस प्रकार संचार के द्वारा लोगों में हित संबंधित सामान्य दृष्टिकोण को उत्पन्न किया जा सकता है, उसी प्रकार प्रबोधक संचार का शब्दकोशीय अर्थ है – मन फिरने में समर्थ, प्रभावपूर्ण, अनुरोध के द्वारा, अनुनयता से तथा विश्वास प्राप्त कराने की समर्थता आदि! 

इस प्रकार प्रबोधक संचार (Persuasive Communication) से आशय ऐसे प्रभावपूर्ण संचार से हैं जिसके माध्यम से दूसरों के विचारों, भावनाओं, अभ्यर्थियों में परिवर्तन किया जा सके! इसके तहत तर्को एवं संदेशों के माध्यम से अभिवृत्ति, विचार आदि में परिवर्तन कर उन्हें कुछ विशेष मूल्यों, विश्वास एवं अभिवृत्ति को स्वीकार ने या कुछ करने, न करने की धारणा में परिवर्तन का प्रयास किया जाता है! 

व्यक्तियों की भावनाओं, विचारों एवं मनोवृत्तियों को अपेक्षित दिशा तथा मात्रा में परिवर्तित करने में जिन कारकों  की अहम भूमिका होती है, उनमें प्रबोधन/ अनुनयात्मक संप्रेषण एक महत्वपूर्ण कारक है! प्रबोधन संप्रेषण का उद्देश्य किसी व्यक्ति या व्यक्तियों के विचारों एवं मनोवृत्तियों को संप्रेषण की इच्छाओं के अनुरूप परिवर्तित करना होता है! 

प्रबोधक संप्रेषण के निर्धारक (Determinants of didactic Persuasive communication in hindi) – 

(1) संप्रेषक / अनुनयकर्ता 
(2) संप्रेषण की विषय वस्तु
(3) संप्रेषण का माध्यम
(4) श्रोता या लक्षित वयक्ति
(5) संप्रेषण 

Leave a Comment

error: Content is protected !!