धन विधेयक (Money Bill) क्या है?

धन विधेयक (Money Bill in hindi)-

संसद में राजस्व एकत्र करने अथवा अन्य प्रकार से धन से संबद्ध विधेयक को धन विधेयक (Money Bill)  कहते हैं! संविधान के अनुच्छेद-110 (1) के उपखंड (क) से (छ) तक में उल्लेखित विषयों से संबंधी विधेयक को धन विधेयक कहा जाता है! धन विधेयक लोकसभा में पेश किया जाता है! धन विधेयक को राष्ट्रपति के पुनर्विचार के लिए नहीं लौटा सकता हैं! 


संविधान के अनुच्छेद 110 में धन विधेयक (Money Bill) की परिभाषा दी गई है! इसके अनुसार कोई विधेयक तब धन विधेयक माना जाएगा जब उसमें निम्न वर्णित एक या एक से अधिक उपबंध हो –

(1) किसी कर को लगाया जाना, समाप्त किया जाना, परिवर्तित किया जाना या नियमित किया जाना! 

(2) केंद्र सरकार द्वारा उधार लिए गए धन का विनिमयन! 

(3) भारत की संचित निधि आकस्मिक निधि में धन जमा करना उसमें धन निकालना है या उस धन की अभिरक्षा से संबंधित कोई प्रावधान बनाना! 

(4) भारत की संचित निधि से धन का विनियोग! 

(5) भारत की संचित निधि पर भारित किसी व्यय की उदघोषणा या इस प्रकार के किसी व्यय की राशि में वृद्धि! 

(6) भारत की संचित निधि या लोक देखें में किसी प्रकार के धन की प्राप्ति या अभिरक्षा या इनसे व्यय या इनका केन्द्र या राज्य की निधियों का लेखा परीक्षण

(7) उपरोक्त विनिर्दिष्ट किसी आनुषंगिक कोई विषय! 

Leave a Comment

error: Content is protected !!