मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान (Madhay pradesh ke rashtriya udhayan)

Madhay pradesh ke rashtriya udhayan

राष्ट्रीय उद्यान किसे कहते हैं –

राष्ट्रीय उद्यान वे क्षेत्र होते हैं, जहाँ पौधे तथा पशुओं की प्रजातियां, प्राकृतिक वास तथा भू- आकृतिक स्थान को विशेष वैज्ञानिक शिक्षा तथा विहार के लिए सुरक्षित रखा जाता है! Madhay pradesh ke rashtriya udhayan इस प्रकार है-

Mp Ya Madhay Pradesh ke rashtriya udhayan –

       नाम

   स्थापना वर्ष

        जिला

 कान्हा किसली

      1955

 मंडला/ बालाघाट

 माधव

      1958

 शिवपुरी

 बांधवगढ़

      1968

 उमरिया/ कटनी

 फॉसिल

      1968

 डिंडोरी

 वन विहार

      1979

 भोपाल

 पन्ना

      1981

  पन्ना/ छतरपुर

 संजय

      1981

 सीधी

 सतपुड़ा

      1983

 होशंगाबाद

ओंकारेश्वर

      2004

 खंडवा

 डायनासोर जीवाश्म उद्यान

      2010

 धार

 कूनो 

     2018

 श्योपुर

       –

      –

    –

 कुल = 11

   

 

मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय उद्यान (Madhay pradesh ke rashtriya udhayan vistar se –

(1) कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान (kanha kisli rashtriya udyan)-

कान्हा किसली मध्य प्रदेश का प्रथम राष्ट्रीय उद्यान है तथा प्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान भी है! कान्हा राष्ट्रीय उद्यान को सर्वप्रथम 1933 में अभयवन 1992 में अभ्यारण्य तथा 1955 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया 
इसका क्षेत्रफल 940 वर्ग किलोमीटर है यह मंडला बालाघाट जिले में स्थित है तथा कुछ भाग डिंडोरी जिले में भी आता है!
 
इसके अंतर्गत आने वाले बंजर और हेलन घाटियों को पहले मध्य प्रदेश का प्रिंसेस क्षेत्र कहा जाता था, यहां पर सुपर्णा नदी भी बहती है इसे वर्ष 1973-74 में प्रोजेक्ट टाइगर में शामिल किया गया!
 

(2) माधव राष्ट्रीय उद्यान –

माधव राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना वर्ष 1958 में की गई थी! यह शिवपुरी जिले में स्थित है, इसका क्षेत्रफल लगभग 375 वर्ग किलोमीटर है! जॉर्ज कैसल नामक भवन इसी राष्ट्रीय उद्यान में स्थित है! माधव राष्ट्रीय उद्यान राष्ट्रीय राजमार्ग NH-3 पर स्थित है! 
 

(3) बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान –

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान का नाम इसके मध्य में स्थित बांधवगढ़ पहाड़ी के नाम पर रखा गया है! बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान 32 पहाड़ियों से गिरा हुआ है तथा यह अपने बाघों के लिए प्रसिद्ध है! यहां प्रति 8 किलोमीटर पर एक शेर पाया जाता है, यह देश में सर्वाधिक बाघ घनत्व वाला क्षेत्र है! यहां सफेद शेर भी पाए जाते हैं! इसकी स्थापना वर्ष1968 में की गई तथा वर्ष 1993 में यहां प्रोजेक्ट टाइगर योजना लागू की गई 
 

(4) फॉसिल राष्ट्रीय उद्यान (jivashm rashtriya udyan mp)- 

इसकी स्थापना वर्ष 1968 में की गई थी! यह मध्यप्रदेश के डिंडोरी जिले के शाहपुर में स्थित है! फॉसिल मध्य प्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय उद्यान है! इसका क्षेत्रफल 0.270 वर्ग किलोमीटर है! यह प्रदेश का पहला जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान है, यहां भूतल जीवाश्म रखे गए हैंयहां अपने नीलगिरी जीवाश्म के लिए प्रसिद्ध है जो अब तक का सबसे प्राचीन जीवाश्म माना जाता है! फॉसिल उद्यान में अब तक 18 पादप कुलों के 31 परिवारों के पौधों के जीवाश्म खोजे जा चुके हैं! 
 

(5) वनविहार राष्ट्रीय उद्यान –

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना वर्ष 1980 में भोपाल के बड़े तालाब के निकट एक पहाड़ी पर की गई और इससे 1983 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया! इसका क्षेत्रफल 4,452 वर्ग किलोमीटर है! 
 
वन विहार थ्री इन वन राष्ट्रीय उद्यान है अर्थात यह नेशनल पार्क होने के साथ-साथ एक आधुनिक चिड़ियाघर तथा जंगली जानवरों का रेस्क्यू सेंटर भी है! इसे वर्ष 1993 94 केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा चिड़ियाघर के रूप में मान्यता दी गई थी या प्रदेश का एकमात्र ऐसा चिड़ियाघर है जिसकी देखरेख वन विभाग करता है! यह प्रदेश का एकमात्र विशाल चिड़ियाघर है (Madhay pradesh ke rashtriya udhayan)
 

(6) पन्ना राष्ट्रीय उद्यान (panna rashtriya udyan) – 

पन्ना राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना वर्ष 1991 में की गई थी इसका क्षेत्रफल लगभग 543 वर्ग किलोमीटर है यह पन्ना और छतरपुर जिले में स्थित है! सेवा सोने से 74 में प्रोजेक्ट टाइगर में शामिल किया गया था
 
पन्ना राष्ट्रीय उद्यान प्रदेश का एकमात्र रेप्टाइल पार्क अर्थात रेंगने वाले जीवो जैसे – सॉप, मगरमच्छ, घड़ियाल आदि का प्राकृतिक निवास स्थान वाला पार्क है पन्ना राष्ट्रीय उद्यान भारत के 18 जीव मंडल रिजर्व क्षेत्रों में से एक है! 
 

(7) संजय राष्ट्रीय उद्यान – 

संजय राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना वर्ष 1981 में की गई थी! यह मध्य प्रदेश के सीधी जिले में स्थित है, इसका कुछ भाग शहडोल में भी है!  यह मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान था, परंतु अब इसका अधिकांश भाग छत्तीसगढ़ में है! वर्तमान में इसका क्षेत्रफल लगभग 467 वर्ग किलोमीटर है
 

(8) सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान – 

 सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना वर्ष 1983 में की गई! सतपुड़ा मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में स्थित है! इसका क्षेत्रफल लगभग 529 वर्ग किलोमीटर है! इसे वर्ष 1999-2000 में प्रोजेक्ट टाइगर में सम्मिलित किया गया! 
 

(9) डायनासोर जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान –

डायनासोर जीवाश्म राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना को 2 दिसंबर 2010 को कैबिनेट ने मंजूरी प्रदान की तथा आधिकारिक घोषणा जुलाई 2013 में की गई! यह धार जिले में स्थित है जिसका क्षेत्रफल 90 हेक्टेयर है!
इस पार्क में 6 से 7 करोड़ वर्ष पुराने डायनासोर के जीवाश्म, करोड़ों वर्ष पुराने पत्थरों से निर्मित हथियार व औजारों के साथ-साथ रिसर्च सेंटर तथा समुद्र जीवों का संग्रह भी रहेगा ! 
 

प्रश्न :- मध्य प्रदेश का प्रथम राष्ट्रीय उद्यान है? 

उत्तर :-  कान्हा किसली मध्य प्रदेश का प्रथम राष्ट्रीय उद्यान है तथा प्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान भी है! कान्हा राष्ट्रीय उद्यान को सर्वप्रथम 1933 में अभयवन 1992 में अभ्यारण्य तथा 1955 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया 

 
इस आर्टिकल में आपने Madhay pradesh ke rashtriya udhayan के बारे में जाना ऐसी ही जानकारी पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे
प्रश्
 
इन्हें भी पढ़ें –
 
 
 
 
 
 

Leave a Comment

error: Content is protected !!