भारत के द्वीप समूह (Indian island) का वर्णन कीजिए

भारत के द्वीप समूह (Indian island in hindi) –

भारत का समुद्री तट अधिक कटा-फटा नहीं है फिर भी उसके समीपवर्ती भागों में अनेक द्वीप पाए जाते हैं! भारतीय समुद्र तटों पर कुल द्वीपो की संख्या 245 है, जिनमें से 204 द्वीप बंगाल की खाड़ी में तथा 43 द्वीप अरब सागर में स्थित है! भारत के द्वीपसमूह (Indian island) निम्न दो श्रेणीयों में बांटा गया है –

(A) अरब सागर के द्वीप – 

अरब सागर में द्वीप समूह उत्तर में कच्छ की खाड़ी से दक्षिण में कन्याकुमारी अंतरीप तक फैले हुए हैं इन द्वीपों की तटीय भागों से दूरी के आधार पर निर्णय दो भागों में बांटा गया है –

(1) सुदूरवर्ती द्वीप – 

ऐसे द्वीप समूह समुद्र तट से 5 किमी. से अधिक दूरी पर स्थित है! इन द्वीपों में लक्षद्वीप, मिनीकाय तथा अमनदीव सम्मिलित है! लक्षद्वीप समूह में कुल 36 द्वीप हैं! लक्षद्वीप समुद्री तट से 200 से 300 किमी की दूरी पर स्थित है! आण्डेट लक्षद्वीप  का सबसे बड़ा द्वीप समूह है!पिटली द्वीप जहां मनुष्य का निवास नहीं है परंतु वह पक्षी अभ्यारण है!

(2) निकटवर्ती दीप- 

भारत के पश्चिमी तट पर अरब सागर में अनेक दीप है जो कटवा चट्टानों पर स्थित है! यह दीप समूह निम्न है – नीरम व भैंसला द्वीप, भटकल और पिजनकाक द्वीप आदि! 

(B) बंगाल की खाड़ी के द्वीपसमूह – 

(1) सुदूरवर्ती द्वीप – 

बंगाल की खाड़ी के सुदूरवर्ती द्वीपों में अंडमान-निकोबार द्वीप समूह प्रमुख है, जो क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा द्वीप एवं केंद्रशसित  प्रदेश है जिसका क्षेत्रफल 8,300 वर्ग किमी. है! अंडमान निकोबार  द्वीप समूह में सैंडल पिक (730) सबसे ऊंची चोटी है!

निकोबार द्वीप समूह में 19 द्वीप हैं! पोर्ट ब्लेयर दक्षिणी अंडमान में है! इस द्वीप समूह में बैरन द्वीप एक सक्रिय ज्वालामुखी है! इस समूह के समीपवर्ती भागों में प्रवाल भितियों की बहुलता है! 

(2) निकटवर्ती द्वीप – 

बंगाल की खाड़ी के तटवर्ती भागों पर गंगा नदी का डेल्टाई भाग में अनेकों छोटे-छोटे द्वीप हैं! जिनमें गंगासागर तथा न्यूमूर द्वीप प्रमुख है! भारत तथा श्रीलंका के मध्य स्थित सागरीय क्षेत्र में कठोर चट्टानी भागों से निर्मित संबंधी प्रमुख से निर्मित पंबन द्वीप समूह है!   

इन्हें भी पढ़ें –

भारत के प्रमुख हिमनद

Leave a Comment

error: Content is protected !!