पिनाका मल्टी बैरल रॉकेट(Powerful Pinaka Rocket System)

  Pinaka Rocket System – यह एक स्वदेशी रॉकेट सिस्टम है जिसे डीआरडीओ द्वारा विकसित किया गया है इसका नाम भगवान शिव के धनुष पिनाक के नाम पर रखा गया है!  1980 के दशक में इसका निर्माण शुरू किया गया 1990 में पिनाका मार्क 1 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया 1999 में कारगिल युद्ध में … Read more

Indias C 17 Globemaster Plain

 C 17 Globemaster Plain

C 17 Globemaster – 

Indias c 17 Globemasterअमेरिका की बोइंग कंपनी ने 1980-90 के दशक में विकसित किया है, इसने पहली उड़ान 15 सितंबर 1991 को भरी! अमेरिका के पास लगभग 200 ग्लोब मास्टर विमान है! अमेरिका के अलावा ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, संयुक्त अरब अमीरात, एवं भारत आदि  इसका उपयोग करते हैं!
 
भारतीय वायु सेना ने 2011 में अमेरिका से 10 ग्लोब मास्टर विमान खरीदने हेतु समझौता किया था वर्ष 2013 के जून माह में पहला विमान भारत को सौंप दिया गया था! इसने रूस के आईएल क्षेत्र की जगह ली है, जिसे गजराज के नाम से जाना जाता था! भारत के पास 12 ग्लोबमास्टर है, यह भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा मालवाहक विमान है! 
C 17 Globemaster की price 366.2 million USD है

Chinas j 20 chengdu fighter jet in hindi

  चाइना चेंगदू J-20 स्टीलथ फाइटर जेट (Chinas j 20 chengdu fighter jet in hindi) –  चाइना J-20 स्टीलथ फाइटर जेट (Chinas j 20 chengdu fighter jet in hindi) का निर्माण चीनी कंपनी चेंदू एयरोस्पेस ने किया है! यह एक 5th जनरेशन स्टीलथ फाइटर जेट है, जो दुनिया का तीसरा 5th जनरेशन फाइटर जेट है! … Read more

Indias t90s bhisham tank भीष्म टैंक

Indias t90s bhisham tank

Indias t90s bhisham tank –

Indias t90s bhisham tank एक जंगी टैंक है जिसे रूस ने बनाया है. यह तीसरी पीढ़ी के टैंक की श्रेणी में आता है.यहाँ T का मतलब है टैंक और इसमें 90 इसलिए लगाया गया, क्योंकि यह 1990 के दशक में बना था. वर्ष 1992 में यह पहली बार दुनिया के सामने आया
 
वर्ष 2001 में भारत ने प्रथम बार रूस से T-90S टैंक खरीदने का समझौता हुआ था. भारत ने रूस को 310 T-90S टैंक का खरीदने का ऑर्डर दिया. इनमें से 124 रूस से बनकर आए जबकि बाकी का निर्माण  चेन्नई (भारत) में किया गया. चेन्नई में जिन T-90S टैंकों का निर्माण किया गया उन्हें ही ‘भीष्म’ नाम दिया गया.
 
भारत ने T 90S को रुस से खरीदा है,इसे रूस के निझ्नी तागिल में उरालवैगनजावोद फैक्ट्री में बनाया जाता, इसे चेन्नई असेंबल में किया है और इसका नाम भीष्म टैंक रखा गया है!
 
 यह अर्जुन टैंक के बाद काफी घातक टैंक हैं, यह अपने दम पर जमीनी युद्ध की दिशा और दशा दोनों बदलने में सक्षम है! इसे और अपडेट किया जा रहा है, उसके बाद तो यह दुश्मनों का काल बन जाएगा! भीष्म और अर्जुन टैंक भारत को आसानी से बढत दिलाने में सक्षम है, यह अनेक खुबियो से लैस है! 

सागरिका मिसाइल(sagarika missile) क्या है ? इसकी प्रमुख विशेषताएं

Submarin Sagarika Missile – सागरिका मिसाइल (sagarika-missile) को K 15 या BO5 मिसाइल भी कहा जाता है! यह k-series की मिसाइल है, इस मिसाइल का नामकरण पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर रखा गया है!  इसे DRDO द्वारा हैदराबाद में स्थित मिसाइल  काम्पलेक्स में विकसित किया गया है, इसका विकास कार्य 1990 … Read more

powerful lockheed martin f 22 reptor in hindi

Lockheed martin f 22 Reptor

lockheed martin f 22 reptor –

 F-22 रेपटर का निर्माण लॉकहीड मार्टिन ने किया है! यह 5th जनरेशन का स्टेल्थ एयर सुपिरिओरिटी फाइटर जेट है, जिसका निर्माण अमेरिका द्वारा रुस को काउंटर करने के लिए बनाया गया था! 
F-22 रेपटर ने अपनी पहली उडान सितम्बर 1997 में भरी थी, इसे 2005 में अमेरिकी सेना में शामिल कर लिया गया था, परंतु कीमत अधिक होने के कारण 2011 में इसका उत्पादन बंद कर दिया गया! इसका लॉकहीड मार्टिन, 
बोइंग डिफेंस, स्पेस ऐंड सेक्युरिटी ने मिलकर किया है! 
वर्तमान में अमेरिका के पास 195 यूनिट है,  से 187 मेंसमसइसे स्पीड के मामले में सबका चाचा जाता है

lockheed martin f 22 reptor की प्रमुख विशेेषताए ( Top feature of lockheed martin f 22 reptor)

 
(1) इसकी अधिकतम स्पीड 2414 km/h है.
 
(2)  इसको किसी भी रडार द्वारा डिटेकट नहीं किया जा सकता हैं! 
 
(3) यह ग्राउंड अटैक, इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर, और सिग्नल इंटेलिजेंस ट्रैकर जैसी विशेषताएं से लैस है.
 
(4) यह वर्तमान में दुनिया का सबसे खतरनाक फाइटर जेट है.
 
(5)  ये अबतक का सबसे ज्यादा विकसित माना जाने वाला फाइटर जेट हैं, साथ ही साथ यह दुनिया का सबसे महंगा फाइटर जेट भी, इसकी लागत 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर है! 
 
(6) इसमें  सार’ और ‘सिंथेटिक अपर्चर राडार‘ नाम का रडार लगा है जो इलेक्ट्रोमैग्नेटिक सिग्नल पर काम करता है. जिसकी मदद से यह दुश्मन को खबर हुए बिना उसकी जानकारी निकाल सकता हैं! 
 
(7) जेट के नीचे M61A2 मल्टीबैरल गन लगी है जो 20 MM की गोलियां दाग सकती हैं, बंदूक एक बार में 480 गोलियां फायर करने में सक्षम है।
 
(8)  F-22 में 1000 पाउंड की GBU-32 जॉइंट डायरेक्ट अटैक मुनिशंस मिसाइल लगाई गई हैंहैं, जिसकी सहायता से यह जमीन पर भी सटीक निशाना लगा सकता हैं! 

Read more

अग्नि प्राइम मिसाइल(agni prime missile)क्या है? इसकी प्रमुख विशेषताएं

Agni Prime missile – अग्नि प्राइम मिसाइल (agni prime missile) का निर्माण डीआरडीओ(DRDO) द्वारा किया गया है अग्नि प्राइम मिसाइल रेंज की 1000 से 2000 किलोमीटर तक है! यह अग्नि मिसाइल का एडवांस रूप है! अग्नि प्राइम एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम के तहत अग्नि मिसाइल का उन्नत रूप है यह कनस्तर प्रणाली आधारित  मिसाइल … Read more

राफेल लड़ाकू विमान(rafeel fighter jets)क्या है? इसकी प्रमुख विशेषता एवं भारत के लिए महत्व

राफेल फाइटर जेट (Rafeel fighter Jets) – राफेल लड़ाकू विमान (rafeel fighter jets) एक मल्टीरोल डबल इंजन फाइटर जेट है जिसे फ़्रांस की डेसॉल्ट एविएशन नाम की कम्पनी ने बनाया है। यह पहाड़ों पर कम जगह में उतर सकता है इसलिए इसे ओमनीरोल विमान के रूप में भी जाना जाता है!  राफेल-A श्रेणी के पहले विमान … Read more

ब्रह्मोस मिसाइल (brahmos missile) क्या है? इसकी कार्यप्रणाली एवं प्रमुख विशेषताएं

ब्रह्मोस (Brahmos Missile) – ब्रह्मोस मिसाइल (brahmos missile) का निर्माण भारत के डीआरडीओ और रूस के एनपीओ मैशिनोस्ट्रोनिया ने मिलकर किया है! यहां एक सुपरसोनिक क्रूज एवं गाइडेड मिसाइल है! इस मिसाइल का नाम भारत की ब्रह्मपुत्र एवं रुस की मास्कोवा नदियों के नाम पर रखा गया है।  ब्रह्मोस के निर्माण की शुरुआत 1998 में हुई थी … Read more

error: Content is protected !!