पृथ्वी की आंतरिक संरचना (prithvi ki aantrik sanrachna) को समझाइए

पृथ्वी का आंतरिक संरचना को  prithvi ki aantrik sanrachna

 पृथ्वी की आंतरिक संरचना (prithvi ki aantrik sanrachna) –

पृथ्वी का आंतरिक भाग (prithvi ki aantrik sanrachna) तीन तरह की परतों से मिलकर बना है जिन्हें भूपर्पटी, मेंटल और क्रोड कहते हैं

भूपर्पटी (Crust in hindi) –

यह ठोस पृथ्वी का सबसे बाहरी भाग है! यहां बहुत भंगुर भाग है जिसमें जल्दी टूट जाने की प्रवृत्ति पाई जाती है भूपर्पटी की मोटाई महाद्वीप और महासागरों के नीचे अलग-अलग है यह महाद्वीपों पर 30 किलोमीटर तथा महासागरीय क्षेत्र में 5 किलोमीटर मोटी है इसका निर्माण भारी चट्टानों से हुआ है इसका घनत्व 3 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर है 

महासागरों के नीचे ऊपर पट्टी विशाल चट्टानों से निर्मित है जिसका घनत्व 2.7 ग्राम प्रति सेंटीमीटर है! इसके दो भाग हैं सियाल और सीमा! 

भूकंप की लहरों की गति में अंतर के आधार पर क्रस्ट को दो भागों में ऊपरी क्रस्टऔर निचले कस्टम में विभक्त किया गया है दोनों के मध्य अंतर का कारण घनत्व है ऊपरी वन इसलिए निचले क्रस्ट के बीच यह घनत्व संबंधी असंबद्धता कोनराड असंबद्धता कहलााती है! (prithvi aantrik sanrachna)

Read more

सुदूर संवेदन (Remote Sensing Hindi) क्या है,विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम किसे कहते हैं?

  सुदूर संवेदन (Remote Sensing in Hindi) क्या है- सर्वप्रथम रिमोट सेंसिंग (Remote Sensing H) शब्द का प्रयोग 1960 के दशक में किया गया था,परंतु बाद में सुदूर संवेदन की …

Read more

भूगर्भशास्त्र (Geology) की परिभाषा,महत्व, शाखाएँ

  भूविज्ञान (भूगर्भशास्त्र Geology in hindi ) – पृथ्वी से संबंधित ज्ञान ही भूविज्ञान (geology) कहलाता है! इसे भूगर्भशास्त्र भी कहते हैं! भूविज्ञान विज्ञान की वह शाखा है जिसमें ठोस …

Read more

मैदान एवं उसके प्रकार (Plains and Its type in hindi)

plains

मैदान (Plain in hindi)

 500 फीट से कम ऊंचाई वाले भूपृष्ठ के समतल भाग को मैदान (Plains) कहते हैं मैदान अति कम स्थानीय उच्चावच के क्षेत्र होते हैं तथा इनका ढाल अति मंद होता है! किसी क्षेत्र में सबसे ऊंचे तथा सबसे नीचे स्थानों के बीच ऊंचाई के अंतर को स्थानीय उच्चावच कहते हैं !

मैदान(Plains) धरातल के 55% भाग पर फैले हुए हैं नदियों के अलावा कुछ मैदानों का निर्माण वायु, ज्वालामुखी और हिमानी द्वारा भी होता है! भारत के 43% भूभाग पर मैदान पाए जाते हैं ! 

बनावट के आधार पर मैदान तीन प्रकार के होते हैं

Plains

संरचनात्मक मैदान (structural plains in hindi) –

इन मैदानों का निर्माण मुख्यतः सागरीय तल अर्थात महाद्वीपीय निम्न तट के उत्थान के कारण होता है! ऐसे मैदान प्राय सभी महाद्वीपों के किनारों पर मिलते हैं! मेक्सिको की खाड़ी के सहारे फैला संयुक्त राज्य अमेरिका का दक्षिण पूर्वी मैदान इसका उदाहरण है ! भूमि के नीचे धसने के कारण भी संरचनात्मक मैदानों का निर्माण होता है ! ऑस्ट्रेलिया के मध्यवर्ती मैदान का निर्माण इसी प्रकार से हुआ है !  

Read more

झील(Lakes)किसे कहते हैं?उत्पत्ति एवं वर्गीकरण,झीलों से संबंधित कुछ तथ्य

झील (Lakes in hindi) – सामान्यता एक झील (lakes) कोई स्थल खंड पर स्थित जल से भरे गर्त के रूप में परिभाषित किया जाता है ! झीले आंतरिक भूमि के …

Read more

error: Content is protected !!