अभिरुचि (Aptitude) क्या है इसकी विशेषताएं

अभिरुचि (Aptitude in hindi) –

अभिरुचि (Aptitude) से तात्पर्य किसी विशिष्ट क्षेत्र में कौशल या ज्ञान प्राप्त करने की अर्जित या जन्मजात क्षमता से है! इसमें किसी व्यक्ति के विशिष्ट क्षेत्र में सफल होने की संभावना नहीं होती है, यदि इस क्षमता को उचित वातावरण व प्रशिक्षण द्वारा विकसित किया जाए! 


अभिरुचि (Aptitude) वह बुनियादी क्षमता है, जिसे सामान्य तौर पर प्रतिभा कहते हैं, जिसके बारे में हम कह सकते हैं कि यदि उह व्यक्ति को उस क्षेत्र में प्रशिक्षण दिया जाए, तो वह व्यक्ति उस क्षेत्र में अच्छा निष्पादन कर पाएगा! 


बिंघम के अनुसार, अभिरुचि व्यक्ति के व्यवहार के उन विशिष्ट गुणों की ओर संकेत करती है, जो यह बताते हैं कि वह व्यक्ति किन्ही विशिष्ट प्रकार की समस्याओं का किस प्रकार सामना करेगा और उन्हें कैसे हल करेगा! 


ट्रैक्सलर के अनुसार, अभिरुचि व्यक्ति की एक स्थिति है, एक गुण या गुणों का समूह है जो उस संभव सीमा की ओर संकेत करता है, जहां तक वह व्यक्ति उचित प्रशिक्षण द्वारा किसी ज्ञान, कुशलता या ज्ञान समूह को प्राप्त कर सकता है, जैसे – कला, संगीत, मशीन संबंधी योग्यता, गणित संबंधी योग्यता, किसी विदेशी भाषा को पढ़ने या बोलने की योग्यता आदि! 

 
इस प्रकार स्पष्ट है कि अभिरुचि के ज्ञात से हमें किसी व्यक्ति की विशिष्ट क्षेत्र में भावी सफलता का पता चल सकता है परंतु उस विशेष क्षेत्र में उसे उचित प्रशिक्षण मिलना आवश्यक है!

इन्हें भी पढ़ें –  

रूढ़िवादिता क्या है? इसकी विशेषताएं

Leave a Comment

error: Content is protected !!